आज प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल, संगठनात्मक जिला रुड़की के अंतर्गत मंगलौर व्यापार मंडल नगर इकाई ने जीएसटी सर्वे का पुतला दहन किया।

Getting your Trinity Audio player ready...

आज प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल, संगठनात्मक जिला रुड़की के अंतर्गत मंगलौर व्यापार मंडल नगर इकाई ने जीएसटी सर्वे का पुतला दहन किया।
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष सौरभ भूषण शर्मा ने कहा कि हमारा व्यापार मंडल पूरे प्रदेश में जो जीएसटी के अधिकारियों द्वारा व्यापारियों के जो सर्वे किया जा रहा है उसका हम विरोध करते हैं। इस सर्वे से स्पेक्टर राज को बढ़ावा मिलेगा और कहीं ना कहीं व्यापारियों का शोषण होगा यदि जीएसटी के अधिकारी व्यापारीयो के प्रतिष्ठानों के सर्वे को नहीं रोकते हैं तो व्यापार मंडल इससे भी उग्र आंदोलन करने पर मजबूर होगा।
इस अवसर पर मंगलौर व्यापार मंडल के अध्यक्ष नसीब मलिक ने कहा कि जीएसटी अधिकारी जो दुकानों का सर्वे कर रहे हैं उससे व्यापारियों में भय का माहौल स्थापित हो गया है कहीं ना कहीं व्यापारी डर रहा है के सर्वे में अधिकारी क्या लिखदे उसका कुछ पता नहीं हम सर्वे का विरोध करते हैं।
इस अवसर पर नगर महामंत्री ओमप्रकाश सिंगल जी ने कहा कि जिस टाइम जीएसटी लागू किया गया था उस टाइम जीएसटी के अधिकारियों ने कई बार व्यापारियों की बैठकों में यह कहा कि अब कभी भी सर्वे या छापामारी नहीं होगी लेकिन अब सर्वे के नाम पर व्यापारियों पर छापामारी की जा रही है उससे व्यापारी घबरा गया है और व्यापारी यह नहीं समझ पा रहे हैं के कैसा जीएसटी के अधिकारी क्यों कर रहे हैं जबकि सारा डाटा उनके पास स्वयं उपलब्ध है।
जिला कोषाध्यक्ष विभोर अग्रवाल ने कहा कि खाद्य सामग्री पर जो जीएसटी बनाया गया है उसका भी हम विरोध करते हैं सरकार जल्द से जल्द बढ़ाई हुए जीएसटी को वापस ले अन्यथा इससे भी उग्र आंदोलन किया जाएगा।
इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष प्रमोद गोयल ने कहा कि सारे प्रदेश में जीएसटी के सर्वे का विरोध हो रहा है लेकिन अधिकारी व्यापारी संगठनों की नहीं सुन रहे हैं मजबूरन हमें विरोध का रास्ता अपनाना पड़ रहा है।
नगर कोषाध्यक्ष सचिन सिंघल सरकार द्वारा जो खाद्य सामग्री पर जीएसटी बढ़ाया गया है उसकी मार सीधे मध्यम परिवारों के लोगों को झेलनी पड़ रही है पहले ही महंगाई ने कमर तोड़ रखी है और उसके ऊपर जीएसटी बढ़ा दिया गया है उसका विरोध करते हैं।
नगर उपाध्यक्ष दिनेश कुमार जी ने कहां की व्यापारियों प्रतिष्ठानों के सर्वे जब जीएसटी अधिकारियों द्वारा किए जा रहे हैं उससे उसकी प्रतिष्ठा पर भी दाग लग रहा है और व्यापारियों को हर कोई चोर की निगाहों से देख रहा है लेकिन व्यापारी चोर नहीं है सबसे अधिक टैक्स देने वाला भारत में यदि कोई है तो सिर्फ व्यापारी वर्ग है।
इस अवसर पर निम्न विनोद कुमार ,महबूब, ज्योति, पोशाक विकास मित्तल ,अजय भाटिया, हरीश सचदेवा, नवीन गोयल, मुकेश बंसल पदाधिकारियों में व्यापारी उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!