बालावाली से मुरादाबाद तक नेशनल हाईवे बनना तय है।

Getting your Trinity Audio player ready...

भले ही अभी एक या दो साल का वक्त लग सकता है, लेकिन बालावाली से मुरादाबाद तक नेशनल हाईवे बनना तय है। वाया मंडावर-बिजनौर और नूरपुर होते हुए मुरादाबाद तक की सड़क को नेशनल हाईवे प्राधिकरण के हवाले कर दिया जाएगा, जिससे एनएच के मानकों पर सड़क का निर्माण कराया जा सके।बिजनौर से मुरादाबाद वाया नूरपुर अभी तक स्टेट हाईवे है। वहीं बालावाली से बिजनौर वाया मंडावर सड़क जिला मार्ग कहलाती है। फिलहाल बालावाली से बिजनौर वाली सड़क पर ज्यादा ट्रैफिक नहीं है, लेकिन बालावाली में गंगा नदी में बन रहे पुल का निर्माण पूरा होते ही इस सड़क पर वाहनों का दबाव बढ़ जाएगा। जिसे लेकर लोक निर्माण विभाग ने मंथन शुरू कर दिया है। विभागीय सूत्रों की माने तो बालावाली से बिजनौर होते हुए मुरादाबाद तक जाने वाली सड़क को नेशनल हाईवे के हवाले कर दिया जाएगा। जिसका प्रस्ताव भी तैयार किए जाने पर विचार चल रहा है।

हाईवे से पुल को जोड़ रहा उत्तराखंड
बालावाली पुल को उत्तराखंड अपनी सीमा में हाईवे से जोड़ रहा है। रुड़की से बालावाली तक हाईवे बना लिया गया है। यह पुल उत्तर प्रदेश सरकार बना रही है, लेकिन उत्तराखंड को ज्यादा फायदा होने वाला है। उनके यहां हरिद्वार में वाहनों का दबाव इस पुल के चालू होने से घट जाएगा। इसी कारण से बिजनौर की सीमा में भी पुल को हाईवे से जोड़ने की कवायद चल रही है।मार्च 2023 तक पूरा हो जाएगा पुल का निर्माणकरीब 62 करोड़ रुपये की लागत से गंगा नदी पर पुल और अन्य कार्य कराए जा रहे हैं। सरकार से 14 करोड़ रुपये मिलना बाकी रह गया था, जिसकी डिमांड कर ली गई है। विभागीय अधिकारी बताते हैं कि मार्च 2023 तक पुल का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। रुड़की-सहारनपुर से बिजनौर को सीधे जोड़ने के लिए साल 2016 में बालावाली में गंगा नदी पर पुल का निर्माण शुरू हुआ था। अब तक इस पुल का 95 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है।घटेगी 60 किलोमीटर की दूरी,बालावाली में निर्माणाधीन पुल चालू होने पर पंजाब या सहारनपुर की ओर से आने वाले ट्रैफिक को हरिद्वार या मुजफ्फरनगर के रास्ते बिजनौर में प्रवेश की जरुरत नहीं होगी। सहारनपुर से रुड़की होते हुए बिजनौर के बालावाली में प्रवेश कर जाएंगे। जिससे 60 किलोमीटर की दूरी घट जाएगी। वहीं बिजनौर शहर और हरिद्वार में भी ट्रैफिक का दवाब कम होगा।बालावाली पुल का निर्माण मार्च 2023 तक पूरा हो जाएगा। उत्तराखंड अपनी सीमा में पुल को हाईवे से जोड़ रहा है। हालांकि हमने अपनी सीमा में सड़क की चौड़ाई बढ़ा दी है, लेकिन आने वाले समय में बालावाली से मुरादाबाद तक बिजनौर होते हुए हाईवे बनाया जाना जरूरी हो जाएगा। इसलिए प्रस्ताव बनाकर उच्चधिकारियों को भेजने पर विचार किया जा रहा है।

error: Content is protected !!