नगर निगम रुड़की सभागार में आयोजित ईद मिलन एवं सामाजिक समरसता गोष्ठी में कांग्रेस नेताओं ने देश के सामाजिक सद्भाव एवं संवैधानिक ताकत को मजबूत करने के लिए संकल्प लिया।

Getting your Trinity Audio player ready...

नगर निगम रुड़की सभागार में आयोजित ईद मिलन एवं सामाजिक समरसता गोष्ठी में कांग्रेस नेताओं ने देश के सामाजिक सद्भाव एवं संवैधानिक ताकत को मजबूत करने के लिए संकल्प लिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश महामंत्री उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस ऋषिपाल बालियान ने की एवं संचालन जिलाध्यक्ष ओबीसी विभाग इ0 मौ. मुब्श्शीर जी ने किया।विधायक ज्वालापुर रवि बहादुर ने कहा कि कांग्रेस संगठन के प्रत्येक कार्यकर्ता को अपना बूथ एवं कांग्रेस की विचारधारा को मजबूत करने के लिए एकजुटता से कार्य करना चाहिए। ऐसे किसी भी प्रयास के लिए मुझे जहां भी उनकी आवश्यकता समझी जाएगी, वह तत्काल उपलब्ध रहेंगे।

ओबीसी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष आशीष सैनी ने कहा कि ओबीसी वर्ग के लोगों को कांग्रेस से जोड़कर कांग्रेस विचारधारा के साथ आगे बढ़ाने का कार्य किया जाएगा। सामाजिक समरसता का मूल दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यक समुदाय की एकजुटता ही है।किसान कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सचिन गुप्ता ने कहा कि समाज के सभी वर्गों को जोड़कर कांग्रेस विचारधारा को मजबूत करते हुए संगठन को और अधिक विस्तार दिया जाएगा। सामाजिक सद्भाव ही भारत व भारतीयता की पहचान है प्रदेश कांग्रेस मीडिया प्रभारी मुकेश सैनी ने कहा कि सत्ता प्राप्ति के लिए देश की वर्तमान सरकार किसी भी कीमत पर देश के सामाजिक सद्भाव को आग लगा कर सत्ता पर कब्जा बनाए रखना चाहती है, नफरत की राजनीति देश के लिए घातक है।वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हाजी सलीम खान, किसान कांग्रेस अध्यक्ष सेठपाल परमार, मेला राम प्रजापति, प्रदेश सेवादल महासचिव रितु कंडियाल, रेनू नौटियाल, ममता पुरी, सरिता सैनी एडवोकेट, रानी जैकब, सरिता धीमान, शाहिन खान, सलीम सलमानी, लवी त्यागी, रईस अहमद, डॉक्टर फरमान, डा रणबीर नागर, नीरज अग्रवाल, सुरेश चंद शर्मा, चंद्रभान स्नेही, सुशील कश्यप, शैलेंद्र सिंह, मीर हसन, शमशाद चेयरमैन, रिजवान अहमद, शकील अहमद, रईस अहमद, राजेंद्र चौधरी, मुनफैत अली, कारी नवाब अली, आयुष जैन, जसविंदर सिंह, डा आलम, इरफान अली, जाकिर हसन, विकास सैनी, शेरू मलिक, शहजाद अंसारी, सरवर सागर, निशित शर्मा, शिवम पंवार, हरिश परमार सहित अनेक वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किए।

error: Content is protected !!