क्या यह एक प्रकार का अतिक्रमण नहीं है?

आपको बता दे चलें रुड़की शहर में इस समय अतिक्रमण का डंडा चारों तरफ चल रहा है। अगर इसी कड़ी में देखा जाए तो सबसे व्यस्तम स्थान चंद्रशेखर चौक के समीप लगने वाले चटोरी बाजार के सामने एवं सड़क से दूसरी तरफ मकैनिकको की दुकानों के सामने ज्यादातर दुपहिया वाहन सुबह से लेकर रात तक खड़े दिखाई देते हैं।

जिसके कारण इस रोड से गुजरने वाले यात्रियों को खासी दिक्कत का सामना उठाना पड़ता है। और अगर देखा जाए तो यह वाहन अनियमित तरीके से सड़क पर खड़े रहते हैं। अगर किसी प्रकार का कोई बड़ा वाहन इस सड़क से गुजरता है। तो घंटो का जाम लग जाता है।

और यहां पर प्रशासन द्वारा एक बोर्ड भी लगा हुआ है। जिस पर स्पष्ट शब्दों में लिखा है पार्किंग प्रतिबंधित क्षेत्र परंतु इस चेतावनी का लोगो पर कोई असर नहीं दिखाई देता है। अगर देखा जाए तो एक तरफ जहां बाजार के व्यपारियों पर इस समय नगर निगम सख्त दिखाई देता है वही दूसरी ओर इस अतिक्रमण से अधिकारीअनभिज्ञ दिखाई देते हैं। या फिर कह सकते हैं कि जानबूझकर अनभिज्ञ बने हुए हैं। स्थिति गंभीर एवं सोचनीय है।

error: Content is protected !!