डॉ.रमेश पोखरियाल निशंक ने रामनगर स्थित होटल में आयोजित राष्ट्रीय ज्योतिष संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए व्यक्त किए

Getting your Trinity Audio player ready...

रुड़की।पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ.रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि ज्योतिष वह विज्ञान है,जो हमें भूत,भविष्य एवं वर्तमान स्थिति से अवगत कराता है। उक्त् विचार डॉ.रमेश पोखरियाल निशंक ने रामनगर स्थित होटल में आयोजित राष्ट्रीय ज्योतिष संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए व्यक्त किए।डॉ.निशंक ने ज्योतिष को विज्ञान बताते हुए कहा कि आज ज्योतिष को आगे बढ़ाने की आवश्यकता है,इसके लिए शोध केंद्र खोले जाने चाहिए।उन्होंने कहा कि हमारे ज्योतिष विज्ञान को आज पूरे विश्व में भी माना है।

ज्योतिष की आवश्यकता न केवल भारत को है, बल्कि पूरे विश्व को है और ज्योतिष के माध्यम से ही विभिन्न चुनौतियों का सामना किया जा सकता है।ज्योतिष और आयुर्वेद भारत की पहचान बताते हुए उन्होंने कहा कि आज पूरा विश्व योग को अपना रहा है।कार्यक्रम संयोजक आचार्य पंडित रमेश सेमवाल के जन्म दिवस पर आयोजित इस संगोष्ठी में विभिन्न क्षेत्रों से आए ज्योतिषाचार्यों ने अपने व्याख्यान दिए।इस अवसर पर मेयर गौरव गोयल,विधायक प्रदीप बत्रा,पूर्व जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश जगदंबिनी, भाजपा जिला महामंत्री आदेश सैनी,रश्मि चौधरी, पूजा नंदा,सुभाष कुमार नंबरदार,डॉ.आशुतोष सिंह कुंवर,नागेश्वर सिं,प्रदीप सचदेवा,विकास शर्मा,रमेश भटेजा व अशोक शर्मा आ रही है आदि मौजूद रहे।संगोष्ठी में आचार्य पंडित रमेश सेमवाल द्वारा लिखित ज्योतिष पुस्तिका का भी अतिथियों द्वारा विमोचन किया गया।अंत में डॉ. निशंक द्वारा आए सभी ज्योतिषाचार्यों को ज्योतिष के क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय योगदान के लिए ज्योतिष रत्न से सम्मानित किया गया।

error: Content is protected !!