इमाम हुसैन के बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता,सचिन गुप्ता नगर में हर त्यौहार पर देखने को मिलता है सौहार्द,रश्मि चौधरी

Getting your Trinity Audio player ready...

रूडकी।वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुप्ता ने कहा है कि मोहर्रम का महीना असत्य पर सत्य और ज़ुल्म व अत्याचार के खिलाफ ऐसी ही आवाज़ है जैसी श्री राम ने रावण के विरुद्ध उठाई थी।आज इमाम हुसैन के बलिदान को पूरे विश्व में इसी लिए याद किया जाता है कि उन्होंने अपनी और अपने परिवार की कुर्बानी देकर मानवता की रक्षा की थी।उन्होंने इमली रोड पर उत्तराखंड नागरिक सम्मान समिति की ओर से इंडियन अंजुमन अखाड़े के खलीफाओं,कार्यकर्ताओं,पुलिस,प्रशासन व सामाजिक कार्यकर्ताओं के सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए कहा कि भारत में विभिन्न संस्कृतियों,धर्मों तथा विचारधाराओं को “वसुधैव कुटुम्बकम ” व सर्वधर्म सम्भाव की धारणा के तहत सम्मान मिला है,यही कारण है कि यहाँ अनेकता में एकता के दर्शन होते हैं। वरिष्ठ समाज सेविका श्रीमती रश्मि चौधरी एवं कोतवाली सिविल लाइन रूडकी प्रभारी देवेन्द्र चौहान ने कहा कि रूडकी के सभी हिन्दू-मुस्लिम,सिख व ईसाई वर्ग के लोगों में जो सामुहिक सौहार्द की भावना देखने को मिलती है वह किसी अन्य नगर में कम देखने को मिलती है,चाहे कांवड़ यात्रा हो,होली हो,गुरु पर्व हो,ईस्टर हो,दीपावली का पर्व हो,मोहर्रम या ईद का त्यौहार हो,सब मिलजुल कर मनाते है,यही गंगा जमुनी तहजीब का प्रतीक है।इस अवसर पर समिति के सरंक्षक ईश्वर लाल शास्त्री,सचिव अफजल मंगलौरी,सलमान फरीदी,मो.अकरम,टीआई अखलेश व्यापारी नेता अरविंद कश्यप,संजीव ग्रोवर,पूर्व पार्षद छोटे भाई,खलीफा आलम खान,मो.राशिद,मो. मुबाशिर,मो.इरशाद,इमरान देशभक्त,सै.नफीसुल हसन, आदि ने विचार व्यक्त किये।दोपहर दो बजे इमामबाड़ा इमली रोड से शिया समुदाय का जुलुस अलम और ताज़िये के साथ निकला जो मातम करते हुए और कर्बला के शहीदों हज़रत इमामं हुसैन,हजरत अब्बास,अली असगर,बीबी सकीना की शान में नोहे और कलाम पढ़े गए।ये ताजियों का जुलूस इमली रोड से मैन बाजार,महिगीरान चौक, रामपुर रोड होता हुआ कर्बला गुलाब नगर पहुँचा।

जुलूस के समापन पर शिया मौलाना सै.गजनफर अली ने कहा कि इमाम हुसैन ने अपने परिवार और 72 साथियों के चौदह सौ साल पहले बलिदान दिया था वो इंसानियत को बचाने,स्वदेश की रक्षा,बुराई व अत्यचार के खिलाफ सच्चाई ईमानदारी की आवाज थी।उन्होंने कहा कि आज इस अवसर पर मुसलमानों को चाहिए कि वे अपने बच्चों को नशाखोरी,आतंकवाद, सामाजिक बुराइयों से रोकने का प्रण करें,साथ ही स्वदेश की रक्षा,और सद्भावना भी जाग्रत करें।

प्रशासन की ओर से अपर तहसीलदार रेखा आर्य,सीओ रूडकी विवेक कुमार,कोतवाली प्रभारी ऐश्वर्य पाल व देवेंद्र चौहान सहित अनेक अधिकारी मौजूद रहे।जुलूस में नगर के लगभग दस अखाड़ों के ख़लीफ़ाओं को पगड़ी बांध कर सम्मानित किया गया।

error: Content is protected !!