आपत्तिजनक टिप्पणी से गुस्साए सैनी समाज के लोगों ने कोश्यारी के खिलाफ प्रदर्शन किया।

Getting your Trinity Audio player ready...

रुड़की। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा देश के महान समाज सुधारक शिक्षाविद ज्योतिबा फुले व‌ देश की प्रथम महिला शिक्षिका माता सावित्री बाई फुले के बारे में की गई आपत्तिजनक टिप्पणी से गुस्साए सैनी समाज के लोगों ने कोश्यारी के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने मांग की कि उन्हें उनके पद से हटाया जाए वरना आंदोलन उग्र किया जाएगा। 

रुड़की के आजाद नगर स्थित महात्मा ज्योतिबा फुले सैनी धर्मशाला में आयोजित कार्यक्रम में सैनी समाज के लोगों ने पुष्प अर्पित कर ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के खिलाफ नारेबाजी की। इस मौके पर बोलते हुए लोजमो संयोजक सुभाष सैनी ने कहा कि एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति द्वारा महापुरुषों के खिलाफ की गई टिप्पणी की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। उन्होंने कहा कि ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले केवल सैनी समाज ही नहीं बल्कि सर्व समाज के आदर्श हैं और उनका अपमान किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कांग्रेस नेता राजकुमार सैनी ने कहा कि दोनों महापुरुषों के खिलाफ की गई टिप्पणी का पुरजोर विरोध किया जाएगा उन्होंने कहा कि कोश्यारी को तुरंत इस पद से मुक्त किया जाए। कहा कि ऐसे व्यक्ति को इस पद पर रहने का कोई अधिकार नहीं है। इस दौरान उपस्थित पदाधिकारियों ने भगत सिंह कोश्यारी के खिलाफ नारेबाजी करते हुए उन्हें पद मुक्त करने की मांग की। इस अवसर पर वरिष्ठ साहित्यकार सुरेंद्र सैनी, समय सिंह सैनी, कांग्रेस नेता आशीष सैनी, मुकेश सैनी, आदेश सैनी, विनोद सैनी, ओमवीर सिंह सैनी,गजे सिंह सैनी, बिजेंद्र सैनी, अमित कुमार, प्रदीप सैनी, सौ सिंह सैनी, शेखर सैनी, मांगेराम सैनी,मास्टर धर्म सिंह सैनी आदि लोग मौजूद रहे।

error: Content is protected !!