*सैनी कावड़ सेवा समिति सैनीपुरम शेरपुर, रुड़की, कल शाम को होगा पवित्र भंडारे का समापन*

Getting your Trinity Audio player ready...

सैनी समाज द्वारा संचालित सैनी कावड़ सेवा समिति शेरपुर रुड़की के माध्यम से निरंतर शिवभक्तों/ कावड़ियों की सेवा की जा रही है, इस बार 18 जुलाई से 12वे विशाल भंडारे के माध्यम से अविरल अगणित शिवभक्तों की संख्या व असीमित खाद्यान्न के द्वारा सेवा लगातार जारी है, हरिद्वार प्रशासन के द्वारा कावड़ियों के आवागमन की व्यवस्था को बदला गया जिस कारण शिव भक्तों को रुड़की बाईपास से निकाला जा रहा है

फलस्वरूप रुड़की में कावड़ियों की भीड़ न के बराबर रही स्थिति को देखते हुए समिति ने 20 जुलाई को सर्वसम्मति से भंडारे को अस्थाई रूप में ग्राम ढंढेडी में स्थापित करने का निर्णय लिया व तीन घण्टे में ही राज टेंट हाउस की टीम ने अपने मजबूत साधनों से यह कार्य कर दिखाया, निर्णय सही साबित हुआ तभी से शिव भक्तों की जबरदस्त भीड़ सुबह 4 बजे से रात 12 बजे तक भंडारे में भोजन प्रसाद आदि सुविधाओ का आनन्द ले रही है और अपने पवित्र गंतव्य हेतु प्रस्थान कर रही हैं,आज भंडारे का सातवां दिन है चाय चने के साथ शुरू हुआ भण्डारा दोपहर में पनीर, चने की सब्जी व दाल, चावल, चपाती, खीर के साथ गतिमान है। डॉ0 रवींद्र सैनी एवं डॉ0 रीता सैनी की टीम शिवभक्तों को चिकित्सीय सहायता दे रही है साथ ही सैनी समाज एवम कावड समिति के सदस्य तन-मन-धन से रात दिन सेवा कर रहे हैं। अपने समाज के गांव का हर प्रकार से पूरा सहयोग निरंतर मिल रहा है, राष्ट्रीय राजमार्ग भोले बाबा की भक्तिमय वातावरण से सराबोर है। 25 जुलाई को समापन सत्र के साथ अपने मूल स्थल सैनीपुरम में भंडारे का समापन होगा, इस समय भंडारे स्थल पर 12 कारीगरों के साथ देशबन्धु जी, देशराज सैनी जी, निर्देश सैनी जी, संजय सैनी, विश्वराज सैनी, निपुण सैनी, दिनेश सैनी, राजेंद्र सैनी,आलोक सैनी, मयंक सैनी, आदि सैनी, आद्विक सैनी, स्वास्तिक सैनी, नरेश सैनी,आदेश सम्राट, अमित सैनी, डॉ0 नवीन सैनी, डॉ0 सतीश सैनी, अजय सैनी, सूर्यकांत सैनी, राजेंद्र सैनी, सुधीर सैनी, नरेंद्र सैनी आदि गणमान्य एवं बालक बालिकाएं सेवा में लगे हुए हैं बाबा केदारनाथ की कृपा इस समाज व राष्ट्र पर पर सदा बनी रहे।

जय भोले बाबा की।

error: Content is protected !!