कांवड़ यात्रा, रूट डायवर्जन के साथ ही रोडवेज का खराब प्रबंधन दिल्ली जाने वाले यात्रियों पर भारी पड़ रही है। स्थिति यह है कि रुड़की से दिल्ली जाने के लिए बसों का कोई निर्धारित रूट ही नहीं रहा

Getting your Trinity Audio player ready...

कांवड़ यात्रा, रूट डायवर्जन के साथ ही रोडवेज का खराब प्रबंधन दिल्ली जाने वाले यात्रियों पर भारी पड़ रही है। स्थिति यह है कि रुड़की से दिल्ली जाने के लिए बसों का कोई निर्धारित रूट ही नहीं रहा

दिल्ली जाने के लिए कभी पुलिस सहारनपुर से करनाल भेज दे रही है तो कभी बस पांवटा साहिब से होते हुए दिल्ली जा रही है। इससे यात्रियों को खासी परेशानी हो रही है। हैरत की बात यह कि गुरुवार को रुड़की से दिल्ली के लिए सुबह सात बजे चली बस साढ़े 14 घंटे बाद दिल्ली पहुंच सकी।

रुड़की से कोई भी बस सीधे नहीं जा रही दिल्ली

रोडवेज प्रशासन बसों के बेहतर संचालन को लेकर तमाम तरह दावे करता रहा है, लेकिन अब इन दावों की पोल खुलना शुरू हो गई है। अब रुड़की से कोई भी बस सीधे दिल्ली नहीं जा रही है।

गुरुवार सुबह एक बस सुबह सात बजे दिल्ली के लिए चली, लेकिन मंगलौर पुलिस ने उसे दिल्ली नहीं जाने दिया। बस को झबरेड़ा होते हुए सहारनपुर की सीमा में दाखिल कर दिया गया। सहारनपुर से उसे हरियाणा की सीमा की तरफ मोड़ दिया गया। शाम सात बजे बस करनाल पहुंच सकी।

रात को साढ़े नौ बजे बस पहुंची दिल्ली

इसके बाद रात को साढ़े नौ बजे बस दिल्ली पहुंची। इस 53 सीटर बस में 13 यात्री सवार थे। इसी तरह से कई बसों को देहरादून से पांवटा साहिब के रास्ते होते हुए दिल्ली भेजा जा रहा है। हालांकि रुड़की से वर्तमान में देहरादून, हरिद्वार एवं सहारनपुर के लिए सीधे बसों का संचालन हो रहा है।

रुड़की डिपो के वरिष्ठ केंद्र प्रभारी विवेक कपूर का कहना है कि कांवड़ के कारण कम ही संख्या में यात्री मिल रहे हैं। बसों के लिए कोई रूट निर्धारित न होने के कारण बस को दिल्ली पहुंचने में देरी हुई।

गाड़ी छोड़ बुलेट से कांवड़ पटरी की व्यवस्था का जायजा ले रहे जेएम

रुड़की कांवड़ पटरी की व्यवस्थाओं को दुरुस्त कराने में जुटे ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अब बुलेट पर सवार होकर धनौरी से आसफनगर का चक्कर लगा रहे हैं। ऐसे में कांवड़ पटरी पर लगे कर्मचारियों में भी हड़कंप मचा हुआ है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने निरीक्षण के दौरान कई जगह कूड़े का उठान ना होने की शिकायत पाई गई। इस पर जेएम ने नाराजगी जताते हुए सफाई पर विशेष ध्यान देने को कहा।

कांवड़ पटरी पर पिछले कई दिन से ज्वाइंट मजिस्ट्रेट निरीक्षण कर रहे हैं। इसके चलते पथ प्रकाश एवं पेयजल आदि की व्यवस्था दुरुस्त हो गई है। इसी बीच कांवड़ पटरी पर गाड़ी जाने में हो रही परेशानी पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने गाड़ी को ही छोड़ दिया है। अब वह बुलेट से कभी सहायक नगर आयुक्त संजय कुमार को लेकर निकल जा रहे हैं तो कभी अन्य स्टाफ को।

गुरुवार को भी उन्होंने कई स्थानों से नगर निगम के सफाई कर्मियों के जरिये कूड़ेदानों की सफाई करवाई। साथ ही राजमार्ग पर भी ब्लीचिंग पाउडर आदि का छिड़काव कराया। इस दौरान उन्होंने मेडिकल शिविरों की व्यवस्था भी देखी। उन्होंने बताया कि अब डाक कांवड़ शुरू हो जाएगी। इसको देखते हुए सभी को सतर्क कर दिया गया है। मेडिकल टीमों को भी 24 घंटे बने रहने के निर्देश दिए गए हैं।

error: Content is protected !!