संस्कृत में शपथ लेकर देवभूमि की पुरातन देव भाषा का सम्मान बढ़ाया राज्यसभा सांसद डॉ कल्पना सैनी

Getting your Trinity Audio player ready...

रुड़की।उत्तराखंड की ओर से राज्यसभा में निर्विरोध सदस्य के रूप में रुड़की का नाम रोशन करने वाली डा.कल्पना सैनी को संसद में प्रथम दिवस प्रतिभाग करने पर ऑल इंडिया सूफी संत परिषद के राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय शायर अफजल मंगलौरी ने संसद भवन पहुंच कर रुड़की वासियों की ओर से बधाई दी।डा.कल्पना सैनी ने आज राष्ट्रपति चुनाव में भी अपना वोट डाला,जिसे रुड़की व देश की जनता ने टीवी पर सीधे प्रसारण में भी देखा।अफ़ज़ल मंगलौरी ने कहा की डा.कल्पना सैनी ने कई इतिहास रचे हैं,मगर सबसे गौरव की बात यह है कि उन्होंने संस्कृत में शपथ ले कर देवभूमि की पुरातन देवभाषा का सम्मान बढ़ाया।उन्होंने कहा कि संस्कृत केवल भारत ही नहीं विश्व की सभी भाषाओं से पुरानी व उनकी जननी है।उन्होंने कहा कि डा.कल्पना सैनी के संसद में पहुंचने से हरिद्वार के हर वर्ग की समस्याओं को पटल पर रखा जा सकेगा और प्रधान मंत्री के सबका साथ सबका विकास योजना को और बल मिलेगा।उन्होंने कहा की उनके पिता स्व पृथ्वी सिंह विकसित ने भाजपा के सिंचाई मंत्री रहते और जीवन पर्यन्त हर वर्ग की समस्याओं का निदान किया।इस अवसर पर संसद में उन्होंने अपने अनेक सांसद मित्रों से भी मुलाकात की।

error: Content is protected !!