बी एस आई ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस रुड़की* द्वारा अपने शिक्षण संस्थान की संस्थापक सदस्य स्वर्गीय *श्रीमती खेमवती शर्मा जी* की *आठवीं पुण्यतिथि* पर महिला सशक्तिकरण विषय पर एक सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं व्याख्यान माला का आयोजन बड़ी धूमधाम से आयोजित किया।

*बी एस आई ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस रुड़की* द्वारा अपने शिक्षण संस्थान की संस्थापक सदस्य स्वर्गीय *श्रीमती खेमवती शर्मा जी* की *आठवीं पुण्यतिथि* पर महिला सशक्तिकरण विषय पर एक सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं व्याख्यान माला का आयोजन बड़ी धूमधाम से आयोजित किया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री चंद्र भूषण शर्मा जी बीएसआई संस्थान सचिव रहे।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि स्वर्गीय श्रीमती खेमवती शर्मा जी के ही संस्कारों का परिणाम है कि आज बीएसआई संस्थान शिक्षा के क्षेत्र में नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है।

इस अवसर पर संस्थान के कोषाध्यक्ष श्री सौरभ भूषण शर्मा जी ने कहा कि स्वर्गीय श्रीमती खेमवती शर्मा जी का हमेशा एक ही प्रयास रहता था के हमारे देश की महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी हैं, हमारी नगर की कन्याए बेहतर शिक्षा ग्रहण करके अपने पैरों पर खड़ी हो और एक शिक्षित वातावरण आने वाली पीढ़ी दे।

इस अवसर पर संस्थान के मैनेजिंग डायरेक्टर गौरव भूषण शर्मा जी ने कहा कि हमारे संस्थान में उन सभी संस्कारों का ध्यान रखा गया है जो भारतीय संस्कृति में एक उच्च कोटि की शिक्षा प्रदान करने के लिए दिए जाते हैं आज वह समय आ गया है जब हमें शिक्षा के साथ-साथ अपने संस्कारो से देश का मान बढ़ाएं।

इस अवसर पर बी एस डिग्री कॉलेज के प्राचार्य शाहजेब आलम जी ने कहा कि हमारे संस्थान का एक ही उद्देश्य है कि कम पूंजी में उच्च कोटि की शिक्षा हम छात्र-छात्राओं को प्रदान कर सकें उसके लिए हमारी प्रबंध समिति हमेशा छात्र छात्राओं के उत्तम भविष्य के लिए प्रयासरत रहती है।
इस अवसर पर तकनीकी विभाग के डीन श्री दिवाकर जैन जी ने कहा कि नई-नई तकनीकों से युक्त हमारे संस्थान में प्रयोगशाला में छात्र छात्राओं के लिए स्थापित की जा रही है जिससे छात्र-छात्राएं यहां से शिक्षा ग्रहण करके अपना भविष्य उज्जवल बना सकेंगे।
इस अवसर पर विधि विभाग अध्यक्ष श्री विवेक उपाध्याय जी ने कहा कि आज महिलाओं के द्वारा सामाजिक के प्रत्येक क्षेत्र में अपनी भागीदारी के महत्व को प्रदर्शित किया है। दुनिया की आधी आबादी के रूप में महिला मुखय भूमिका में आज समाज को दिशा प्रदान कर रही है। भारतीय संस्कृति में महिलाओं को पूरूषो के समान ही स्थान दिया गया है।

उपरोक्त कार्यक्रम में निम्न छात्र छात्राओं ने महिला सशक्तिकरण पर व्याख्यान प्रस्तुत किये:-
निशांत (बी फार्मा), गरिमा (बीएमएस), रितेश (बी एड), जीनत (बी एड)

इस अवसर पर निम्न छात्र छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रतिभाग किया:-
तरन्नुम, शिबा, नगमा, पलक, (लॉ डिपार्मेंट), प्रिया, अंकिता, खुशबू, मुस्कान, कोमल, भावना, रोहित, मुजम्मिल, अंशिका, वैशाली,

इस अवसर पर निम्न अध्यापक-
विवेक उपाध्याय, सुनील चौहान, विपिन चौधरी, हिमांशु, एमएच अंसारी, हुमा, शाहीन, मंजू , ज्योति, शबनम, मेघा, प्रवीन, वंदना,अध्यापिका में छात्र- छात्राएं उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!