उत्तराखंड बीजेपी से राज्यसभा प्रत्याशी कल्पना सैनी ने अपना नामांकन पत्र भरा

Getting your Trinity Audio player ready...

उत्तराखंड बीजेपी से राज्यसभा प्रत्याशी कल्पना सैनी ने अपना नामांकन पत्र भरा है. इस मौके पर उन्होंने कहा कि वो पूरे भरोसे के साथ पार्टी की उम्मीदों पर खरा उतरेगी. कांग्रेस ने कम संख्याबल होने के कारण कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है, ऐसे में कल्पना सैनी का निर्विरोध निर्वाचन तय है,देहरादून: उत्तराखंड से राज्यसभा के लिए बीजेपी उम्मीदवार कल्पना सैनी ने विधानसभा में अपना नामांकन भर दिया है. इस दौरान सीएम पुष्कर सिंह धामी, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक सहित कई दिग्गज नेता मौजूद रहे. नामांकन से पहले पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने प्रदेश कार्यालय में सभी विधायकों की बैठक बुलाई. बैठक में विधायकों को प्रस्तावक बनाने पर चर्चा हुई. बैठक के बाद पार्टी प्रत्याशी कल्पना सैनी विधानभवन पहुंची और अपना नामांकन पत्र दाखिल किया.राज्यसभा के लिए नामांकन विधानसभा सचिव के कार्यालय में किया गया. इस दौरान प्रस्तावक के तौरे पर पुरोला विधायक दुर्गेश्वर लाल और कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत भी मौजूद रहे. नामांकन के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए राज्यसभा प्रत्याशी कल्पना सैनी (Rajya Sabha Candidate Kalpana Saini) ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने उन पर भरोसा जताया है और वह पूरे भरोसे के साथ पार्टी की उम्मीदों पर खरा उतरेगी,गौर हो कि 31 मई मंगलवार को राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने का आखिरी दिन था. 1 जून को नामांकन पत्रों की जांच होगी. 3 जून को नाम वापसी की तिथि है. निर्वाचन की औपचारिक घोषणा 10 जून को होगी. वहीं, बीजेपी प्रत्याशी डॉक्टर कल्पना सैनी का निर्विरोध निर्वाचन तय है. दरअसल, कम संख्याबल होने के कारण कांग्रेस ने चुनाव में प्रत्याशी नहीं उतारा है. वहीं, बीजेपी के पास विधानसभा में दो-तिहाई बहुमत है. बीजेपी के अपने 47 विधायक हैं, दो निर्दलीय और दो बसपा विधायक भी हैं. कांग्रेस के 19 विधायक हैं.

कौन हैं कल्पना सैनी: डॉ कल्पना सैनी का जन्म 1 अक्टूबर 1959 को हरिद्वार जिले के एक छोटे से गांव (शिवदासपुर- तेलीवाला) रुड़की में एक सैनी परिवार में हुआ था. उनके पिता का नाम पृथ्वी सिंह और माता का नाम कमला देवी है. कल्पना सैनी किसान परिवार में पैदा हुईं थी. मेरठ विश्वविद्यालय से प्रथम श्रेणी के परिणाम प्राप्त करते हुए संस्कृत में पीएचडी की डिग्री हासिल की.

कल्पना सैनी 31 साल की उम्र में 1990 से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ीं. उन्होंने रुड़की में प्रिंसिपल के रूप में काम किया. इस दौरान संगठन से जुड़ी रहीं और 1995 में उन्हें भारतीय जनता पार्टी के रुड़की के लिए पार्षद नियुक्त किया गया. वह उत्तराखंड बीजेपी बड़ी महिला नेता के तौर पर जानी जाती हैं.

दूसरी महिला सदस्य: राज्य बनने के बाद स्व. मनोरमा शर्मा डोबरियाल कांग्रेस के टिकट से राज्यसभा जा चुकी हैं. उनके बाद डॉ. कल्पना सैनी राज्यसभा जाने वालीं प्रदेश की दूसरी महिला सदस्य होंगी.

error: Content is protected !!