राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह अंबावत ने रामपुर चुंगी स्थित एक वेंकट हॉल में स्वागत सम्मान कार्यक्रम में बोलते हुए अपने विचार व्यक्त किए।

Getting your Trinity Audio player ready...

रुड़की।भारतीय किसान यूनियन-अंबाबत के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह अंबावत ने कहा कि देश के किसानों का उत्पीड़न लगातार जारी है।केंद्र एवं राज्यों की सरकारों द्वारा लगातार किसान हितों की अनदेखी की जा रही है,जिसके चलते देशभर में अनेकों किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं।

उक्त् विचार राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह अंबावत ने रामपुर चुंगी स्थित एक वेंकट हॉल में स्वागत सम्मान कार्यक्रम में बोलते हुए व्यक्त किए।उन्होंने कहा कि देश का किसान आज बदहाली के कगार पर पहुंच चुका है।अधिकतर स्थानों पर किसानों को आत्महत्या करने पर मजबूर होना पड़ रहा है।केंद्र और राज्य की सरकारों द्वारा किसानों किसानों के हितों के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए हैं।उन्होंने किसान नेता चौधरी राकेश टिकैत पर हुए हमले की भी कड़े शब्दों में निंदा की तथा कहा कि यह जानबूझकर किया गया हमला है जिसकी वह कड़ी निंदा करते हैं।राष्ट्रीय अध्यक्ष अंबावत ने जानकारी देते हुए बताया कि आगामी 10,11 और 12 जून को हरिद्वार में भारतीय किसान यूनियन का राष्ट्रीय अधिवेशन आयोजित होगा,

जिसमें देशभर से किसान सम्मिलित होगें तथा किसानों की समस्याओं तथा उनकी विभिन्न मांगों को लेकर अधिवेशन में चर्चा होगी।भाकियू अंबावत महिला विंग की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती रश्मि चौधरी ने कहा कि देश का किसान जिसे अन्नदाता भी कहा जाता है,आज अपनी बदहाली पर खून के आंसू बहा रहा है।किसानों की बात सुनने वाला आज कोई नहीं है।उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी फसल की पूरी लागत भी नहीं मिल रही है और सरकार इस और अपना ध्यान नहीं दे रही है।युवा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एडवोकेट फरमान त्यागी ने कहा कि वह किसानों के हितों की लड़ाई लड़ेंगे एवं बड़ी संख्या में किसानों को यूनियन से जोड़ा जाएगा,वहीं उन्होंने कहा कि आगामी होने वाले राष्ट्रीय अधिवेशन में बड़ी संख्या में किसानों को सम्मिलित करने के लिए पार्टी पदाधिकारियों को अभी से जनसंपर्क अभियान में लगाया जाएगा।युवा प्रकोष्ठ का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर पार्टी पदाधिकारियों द्वारा फरमान त्यागी एडवोकेट का स्वागत किया गया व राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ऋषिपाल सिंह अंबावत का भी शाल,फूल-मालाएं सम्मान किया गया।इस अवसर पर राव मुनफैत एडवोकेट,अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष नौशाद सिद्दीकी,आमीन त्यागी,शाह आलम,योगेश चौधरी,मोहम्मद परवेज, सोहन त्यागी,मोहम्मद इमरान आदि बड़ी संख्या में किसान लोग मौजूद रहे,संचालन नईम सिद्दीकी द्वारा किया गया।

error: Content is protected !!