महाराणा प्रताप जी के जन्मदिवस पर पुष्प अर्पित कर के श्रद्धांजलि दी गई।

Getting your Trinity Audio player ready...

शहीद भगत सिंह बिग्रेड वेलफेयर सोसायटी रुड़की द्वारा योगी मंगल नाथ( सरस्वती विद्या मंदिर)स्कूल में वीर योद्धा महाराणा प्रताप जी के जन्मदिवस पर पुष्प अर्पित कर के श्रद्धांजलि दी गई। विद्यालय की तरफ से पूरी टीम को सम्मानित भी किया गया। विद्यालय में 6th से 12th तक के सभी बच्चों की महाराणा प्रताप जी के विषय में लिखित परीक्षा ली गई जिसमे हर कक्षा से 3 बच्चों को चुना गया और उन्हें ब्रिगेड की तरफ से सम्मानित किया गया। संस्था के अध्यक्ष गौरव कुमार ने कहा की महाराणा प्रताप को दुनिया का सबसे शक्तिशाली योद्धा माना जाता था। जिन्होंने कभी भी अकबर के आगे घुटने नही टेके और हमेशा उसे युद्ध के लिए ललकारा और अकबर उनसे कभी युद्ध में आमने सामने का मुकाबला करने नही आया, क्युकी वो जनता था की एक क्षण में ही उसकी मृत्यु निश्चित है। महाराणा प्रताप को हराने के लिए उसने सारे भारत के अन्य राजाओं को अपने पक्ष में कर लिया था मगर फिर भी कभी जीत नही सका। मात्र 8 साल की उम्र में उन्होंने अकबर के गुरु और सबसे शक्तिशाली जंगजू बेहराम खान को हरा कर मुगलों के होश उड़ दिए थे। और इसी उम्र में उन्होंने अफगानी आतताई शमश खान को भी मार दिया था। जिस कारण प्रताप से हर कोई विदेशी आक्रमणकारी डरता था। प्रताप जी ने सत्ता संभालने के बाद लगभग 25 वर्ष तक राज किया और सभी राजपूतों को उनकी जगीरे वापिस दिलवा कर जो अकबर ने धोखे से छीन ली थी उन्हे फिर से वापिस छीन कर उन्हे सोप दिया और अपने साथ मिला लिया था। हल्दी घाटी के युद्ध में उन्होंने अपनी छोटी से सेना के साथ युद्ध किया और 1लाख से अधिक मुगल सैनिकों से लोहा लिया, जिसमे 65000से ज्यादा मुगल मारे गए थे। इस अवसर पर अरुण करणवाल, विनोद गुप्ता, राजकुमार शर्मा, आकाश महेश्वरी, सतनाम सिंह, अंकुश सोनी, अमनदीप सिंह, गौरव कुमार, प्रशांत अग्रवाल, राजू चौधरी, सुशील पुंडीर, दिपेश भारद्वाज, भूपेंदर सिंह, पवन यादव, हरीमोहन शर्मा, अनुज शर्मा, अभिषेक सैनी, गौरव अरोड़ा, अनिकेत पाल आदि उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!