आंतक के पर्याय बने गुलदार को शिकारी दल ने मार गिराया

टिहरी गढ़वाल। टिहरी जिले में आतंक का पर्याय बने गुलदार को शिकारी दल ने आखिरकार मार ही दिया। इस गुलदार ने नरेंद्रनगर ब्लॉक के पसर गांव में आतंक मचा रखा था। गुलदार के मरने के बाद ग्रामीण ने राहत की सांस ली। सोमवार को इसी गुलदार ने 52 साल के राजेंद्र सिंह पर हमला किया था, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई थी।

इस क्षेत्र में पिछले एक माह से गुलदार का आतंक बना हुआ था, तभी यहां पर वन विभाग टीम तैनात की गई थी। लेकिन गुलदार पकड़ में नहीं आया। सोमवार सुबह को भी गुलदार के हमले से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। इसके बाद ग्रामीणों ने काफी हंगामा किया था। इसके बाद टिहरी डीएम ईवा श्रीवास्तव मौके पर पहुंची और ग्रामीणों को समझाया। आखिर में डीएम ने आदमखोर हो चुके गुलदार को मारने के लिए शिकारी जॉय हुकिल और बलवर पंवार समेत करीब चार शूटरों को तैनात किया।

शिकारियों ने सोमवार शाम गुलदार को गोली मारी दी थी, लेकिन उसका शव मंगलवार सुबह दूर जंगल में मिला। बीती शाम को ही घटनास्थल से कुछ दूर एक कुत्ते को बांध दिया गया था। शाम को करीब साढ़े पांच बजे गुलदार घटनास्थल के पास पहुंचा और पेड़ की आड़ में छिप गया।

इस दौरान शूटर बलवीर पंवार ने भी मोर्चा संभाला और जैसे ही गुलदार कुत्ते पर झपटने आया तो उन्होंने गुलदार पर दो गोली चला दी। गोली लगते ही गुलदार भाग निकला। मंगलवार सुबह गुलदार का शव दो किमी दूर जंगल में मिला। रेंज अधिकारी विवेक जोशी ने इसकी पुष्टि की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!