बीमा योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना सुनिश्चित : प्रतीक जैन

Getting your Trinity Audio player ready...

हरिद्वार। मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन की अध्यक्षता में मंगलवार को कलक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय समीक्षा समिति/जिला परामशदात्री समिति(बैंकिंग) की एक संयुक्त बैठक आयोजित हुई।बैठक में मुख्य विकास अधिकारी को एल.डी.एम.(लीड डिस्ट्रिक्ट मैनेजर) संजय सन्त ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बताया कि प्रधानमंत्री जन धन योजना के अन्तर्गत हरिद्वार जनपद में योजना के प्रारम्भ से लेकर जून,2023 तक 9,90,552 बैंक खाते खोले गये, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के अन्तर्गत जून,2023 तक 6,30,260 लोगों का बीमा कराया गया, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का उल्लेख करते हुये हुये उन्होंने बताया कि इसके अन्तर्गत जून,2023 तक 2,01,500 व्यक्तियों का बीमा कराया गया। इस पर मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देश दिये इन योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुये बीमा योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना सुनिश्चित करें।अटल पेंशन योजना के बारे में प्रस्तुतीकरण देते हुये लीड बैंक मैनेजर ने बताया कि जनपद में प्रारम्भ से लेकर जून,2023 तक 1,43,572 लोगों की पेंशन स्वीकृत हो चुकी है। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा आधार सीडिंग की प्रगति के बारे में पूछे जाने पर लीड बैंक मैनेजर ने बताया कि जनपद में सक्रिय बैंक जमा खातों की जून,2023 तक लगभग 93.43 प्रतिशत आधार सीडिंग की जा चुकी है तथा अन्य बैंकों की अपेक्षा सीडिंग के मामले में एक्सिस व यश बैंक की प्रगति धीमी चल रही है। इस पर मुख्य विकास अधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सरकार की योजनाओं का लाभ डीबीटी के माध्यम से सीधे लाभार्थी तक पहुंचाया जा रहा है, ऐसे में अधिक से अधिक लोगों की आधार सीडिंग करना सुनिश्चित करें ताकि लाभार्थी आधार सीडिंग की वजह से लाभ प्राप्त करने से वंचित न रहे। इसके अतिरिक्त अगर जिन वयस्क लोगों के अभी तक खाते नहीं खुल पाये हैं, तो ऐसे लोगों को चिह्नित करके बैंक खाते खुलवाना सुनिश्चित करें। बैठक में लीड बैंक मैनेजर ने सूचना प्रौद्योगिकी का जिक्र करते हुये बताया कि हरिद्वार जनपद में जून,2023 के अनुसार 288 बैंक शाखायें तथा 463 एटीएम हैं। इस पर मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि जितने भी खाताधारक हैं, उन्हें डिजिटल बैंकिंग के लिये अधिक से अधिक प्रोत्साहित किया जाये। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा बैंकों व सरकार द्वारा ऋण वितरण के अतिरिक्त किये गये क्रियाकलापों के सम्बन्ध में पूछे जाने पर लीड बैंक मैनेजर ने बताया कि वित्तीय साक्षारता केन्द्रों के माध्यम से जून,2023 तिमाही तक 06 प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से 187 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया गया।बैठक में स्वतः रोजगार योजना, वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना, होम स्टे योजना, मुद्रा योजना, स्टैण्डअप योजना, प्राकृतिक आपदाओं के मामलों में सहायता, लम्बित वसूली प्रकरण आदि के सम्बन्ध में विस्तृत विचार-विमर्श हुआ तथा मुख्य विकास अधिकारी ने इन योजनाओं के सम्बन्ध में अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये गये।इस अवसर पर पीडी के0एन0 तिवारी, महाप्रबन्धक उद्योग सुश्री पल्लवी गुप्ता, पर्यटन अधिकारी सुरेश सिंह यादव, प्रतिनिधि नगर निगम हरिद्वार, नगर निगम रूड़की, अल्पसंख्यक कल्याण, समाज कल्याण विभाग, पंजाब नेशनल बैंक, स्टेट बैंक आफ इण्डिया, एक्सिस बैंक, बन्धन बैंक, बैंक ऑफ बडौदा, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, ओवरसीज बैंक, केनरा बैंक, जे एण्ड के बैंक, महेन्द्रा बैंक, एचडीएफसी बैंक, उत्तराखण्ड ग्रामीण बैंक, जिला कोआपरेटिव बैंक सहित सम्बन्धित बैंकों एवं विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!