जलभराव की समस्या से निपटने में धामी सरकार विफल:नवप्रभात,कांग्रेस की बाढ़ग्रस्त क्षति आंकलन समिति की बैठक में सत्ताधारी पार्टी के प्रति जताई नाराजगी

Getting your Trinity Audio player ready...

रुड़की। प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा गठित हरिद्वार बाढ़ग्रस्त क्षति आंकलन समिति की एक बैठक अध्यक्ष पूर्व मंत्री नवप्रभात की अध्यक्षता व महानगर कांग्रेस अध्यक्ष राजेंद्र चौधरी एडवोकेट के संचालन में आयोजित हुई। बैठक में चर्चा करते हुए सभी ब्लॉक, नगर एवं जिलाध्यक्षों द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में हुए नुकसान की आंशिक रिपोर्ट कमेटी के समक्ष रखी । इस दौरान अपने संबोधन में पूर्व मंत्री एवं समिति अध्यक्ष नवप्रभात ने कहा कि राज्य सरकार ने जलभराव की अनदेखी की है और शहरी क्षेत्रों में बारिश से पहले कोई तैयारी नहीं की गई थी। समिति के सामने आए मामलों को देखते हुए कांग्रेस का पक्ष है कि राज्य सरकार किसानों को बहुत कम मुआवजा दे रही है। पशु चारे की गंभीर समस्या है। तटबंध क्षतिग्रस्त हैं और नालों की सफाई नहीं कराई गई, । आपदा राहत राशि का उपयोग नहीं किया गया है । रुड़की के चारों तरफ नेशनल हाईवे बनने के कारण पानी की निकासी प्रभावित हुई है। ग्रामीण क्षेत्रों में जलभराव के कारण फसलें खराब हो गई है। पूर्व मंत्री नवप्रभात ने कहा कि कांग्रेस सभी समस्याओं के निराकरण के लिए प्रयास करेगी। महामंत्री संगठन व इस समिति के सचिव विजय सारस्वत ने कहा कि अगली बैठक देहरादून में 7 अगस्त को आयोजित की जाएगी। उसके बाद आगे की रणनीति तय होगी । उन्होंने कहा कि हरिद्वार जिले का शोषण नहीं होने दिया जाएगा। राजेंद्र चौधरी ने कहा कि रुड़की की सड़कों में नालियों और गलियों में ट्रिपल इंजन का विकास दिखाई दे रहा है । जिस कारण आमजन दुखी है और भाजपा को लोगों की समस्याओं से कोई मतलब वास्ता नहीं है । रुड़की में तीन तीन बार ज्ञापन देने के बाद भी जलभराव को सरकार व प्रशासन ने गंभीरता से नहीं लिया और आज जनता जलभराव से दुखी है। राजेंद्र चौधरी ने कहा कि मंगलोर विधानसभा क्षेत्र के कई गांव पानी की निकासी की समस्या से जूझ रहे और वहां के विधायक सरवत करीम अंसारी जनता के बीच ना जाकर आराम से अपने घर पड़े हैं। जबकि जगह जगह जल निकासी को लेकर ग्रामीण एक दूसरे के सामने लड रहे हैं और बाकी विधायक भी अपने अपने क्षेत्रों में पानी निकासी व नुकसान का आंकल कर रहे हैं।बैठक में सभी ब्लॉक अध्यक्षों व विधायक प्रतिनिधियों ने अपने अपने क्षेत्रों की समस्याएं व नुकसान व जलभराव की रिपोर्ट समिति को सौंपी जिस पर गहन चर्चा की गई। इस दौरान पूर्व मंत्री रामसिंह सैनी ,हरिद्वार महानगर अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी, कार्यकारी अध्यक्ष अमन गर्ग, राजेश रस्तोगी, नीरज त्यागी, संजीव चौधरी, प्रदुमन अग्रवाल, सुलेमान अंसारी, राजेश सैनी गौरव चौधरी, नीरज सैनी, फरमान खान ,हिमांशु ,जुल्फान, नीरज ,पंकज सिंघल, पुष्कर सारस्वत, नूर आलम आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!