ऑल इंडिया ब्लड डोनर ट्रस्ट की प्रथम वर्षगांठ पर ट्रस्ट द्वारा रुड़की सिविल अस्पताल स्थित रक्तकोष में रक्तदाता सम्मान समारोह एवं रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया

Getting your Trinity Audio player ready...

ऑल इंडिया ब्लड डोनर ट्रस्ट की प्रथम वर्षगांठ पर ट्रस्ट द्वारा रुड़की सिविल अस्पताल स्थित रक्तकोष में रक्तदाता सम्मान समारोह एवं रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर 25 से अधिक यूनिट रक्तदान किया गया। ट्रस्ट की ओर से रुड़की एवं आसपास के क्षेत्र में रक्तदान के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाने वाली संस्थाओं एवं रक्तदाताओं को सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रक्तकोष प्रभारी डॉ रजत सैनी एवं अतिथि सचिन पंडित एवं संदीप गोयल रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता ट्रस्ट के संस्थापक कवि चौधरी ने की। मंच का संचालन कुलदीप कुमार ने किया। ट्रस्ट की ओर से सर्वप्रथम मुख्य अतिथि डॉक्टर रजत सैनी का सम्मान किया गया। डॉ रजत सैनी ने रक्तदान से संबंधित अपने अनुभव सभी के साथ साझा किए। उसके पश्चात अतिथि संदीप गोयल एवं सचिन पंडित का सम्मान ट्रस्ट की ओर से किया गया। संदीप गोयल स्वयं 60 से अधिक बार रक्तदान कर चुके हैं जबकि सचिन पंडित 105 से अधिक बार रक्तदान कर चुके हैं। सचिन पंडित ने अपने अनुभव में बताया कि कैसे सर्वप्रथम उन्हें अपनी माता के लिए रक्त की आवश्यकता पड़ने पर रक्तदान करना पड़ा और उसके पश्चात वह इस पीड़ा को समझ पाए और तब से निरंतर रक्तदान कर रहे हैं। संदीप गोयल ने बताया कि जब रुड़की में रक्त कोष नहीं होता था उस दौर में एक-एक रक्तदाता को समर्पण संस्था द्वारा एकत्र किया जाता था। रक्तदान महादान के प्रभारी अनस गाजी को भी संस्था की ओर से सम्मानित किया गया। पवन पाल ने भी अपने अनुभव अतिथियों के साथ साँझा किए। सहारनपुर से अपनी टीम के साथ आए विपिन शर्मा ने भी अपने अनुभव सभी के साथ साझा किए। अंत में ट्रस्ट की ओर से संस्थापक कवि चौधरी, निखिल पाल, कुलदीप कुमार एवं सुमित कुमार भारद्वाज ने सभी संस्थाओं एवं रक्तवीरों को धन्यवाद दिया। इस अवसर पर सोनू कश्यप, पवन पाल, अनुज कुमार, चिराग गुप्ता, चेतन तायल, अंकित धीमान, भूपेंद्र चौधरी, जितेंद्र चौधरी, सचिन चौधरी, मनु प्रताप, गौरव, नाजिम, संदीप चौधरी आदि सदस्यों के साथ-साथ रुड़की रक्तकोष की पूरी टीम उपस्थित रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!