छह साल की मासूम बच्ची और उसकी मां के साथ हुए गैंगरेप मामले में पुलिस ने फरार मुख्य आरोपी सोनू पर 10 हजार का इनाम घोषित किया है. साथ ही पुलिस ने एक संदिग्ध की फोटो भी जारी की है.

Getting your Trinity Audio player ready...

रुड़की मां बेटी गैंगरेप मामले में पुलिस के हाथ अभी भी खाली हैं. हालांकि पुलिस ने मुख्य आरोपी सोनू पर 10 हजार का इनाम घोषित किया है. बाइक सवार एक संदिग्ध की फोटो भी जारी की गई है.इस मामले में पुलिस तीन से चार लोगों की तलाश कर रही है, लेकिन पुलिस फिलहाल एक ही आरोपी की पहचान कर पाई है.

रुड़की: छह साल की मासूम बच्ची और उसकी मां के साथ हुए गैंगरेप मामले में पुलिस ने फरार मुख्य आरोपी सोनू पर 10 हजार का इनाम घोषित किया है. साथ ही पुलिस ने एक संदिग्ध की फोटो भी जारी की है. फोटो में ये शख्स बाइक पर नजर आ रहा है और महिला अपनी बेटी के साथ इस व्यक्ति के पीछे बैठी है. इस वारदात को तीन से चार लोगों ने मिलकर अंजाम दिया था, लेकिन पुलिस अभीतक सिर्फ एक ही आरोपी को चिन्हित कर पाई है, जिसका नाम सोनू है और पुलिस के मुताबिक सोनू को पीड़िता पहले से ही जानती थी.इस मामले में नामजद आरोपी सोनू पर पुलिस ने इनाम घोषित किया है, साथ ही आमजन से अपील की है कि यदि कोई भी दुष्कर्म से जुड़ी सूचना पुलिस को देता है तो उसको उचित इनाम दिया जाएगा. सूचना देने वाले का नाम, पहचान और पता पूरी तरह से गुप्त रखा जाएगा. पुलिस का कहना है कि आरोपियों की शिनाख्त के लिए स्केच भी जारी किए जाएंगे.चलती कार में किया था गैंगरेप: बता दें कि बीते शुक्रवार 24 जून की रात को कलियर थाना क्षेत्र की रहने वाली एक महिला ने रुड़की आने के लिए कार सवार कुछ लोगों से लिफ्ट मांगी थी. महिला के साथ उसकी छह साल की बेटी भी थी. आरोप है कि बीच रास्ते में कार सवार तीन से चार युवकों ने चलती कार में मां और उसकी छह साल की बेटी के साथ गैंगरेप किया. इस हैवानियत को अंजाम देने के बाद आरोपी महिला और उसकी बच्ची को सड़क किनारे ही फेंककर फरार हो गए थे.

मुख्य आरोपी सोनू पर 10 हजार का इनाम घोषित

महिला जैसे-तैसे अपनी बेटी को लेकर थाने पहुंची, जहां से पुलिस ने उसे रुड़की के सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया था, जहां बेटी की स्थिति गंभीर बनी हुई थी. हालांकि अब बच्ची की हालत में पहले से सुधार बताया जा रहा है. घटना के बाद पीड़िता एक ही आरोपी को पहचान पाई है, जिसका नाम सोनू है. सोनू कलियर का ही रहने वाला है. सोनू की तलाश में कई टीमें लगी हुई हैं. सोनू को ऊपर पुलिस ने 10 हजार की इनाम भी घोषित किया है.

इस मामले में रुड़की सीओ विवेक कुमार ने बताया कि कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. पुलिस को जांच में कुछ अहम सुराग मिले हैं, जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है. पुलिस ने शनिवार को महिला और बेटी के बयान दर्ज किये हैं. पुलिस 24 जून की रात 11 बजे से लेकर एक बजे के बीच कांवड़ पटरी पर से आने जाने वालों के नंबर सीसीटीवी कैमरे के आधार पर ट्रेस कर रही है. दूसरी तरफ घटनास्थल के आसपास संचालित मोबाइल नंबर को भी चिन्हित कर रही है. पुलिस की तीन टीमें कलियर और रुड़की से लेकर आसपास के इलाके में दबिश दे रही हैं.

महिला कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने पीड़िता से की मुलाकात: महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष ज्योति रौतेला ने हॉस्पिटल पहुंचकर पीड़िता से मुलाकात की. हालांकि वह बच्ची से नहीं मिल पाईं. उन्होंने प्रदेश सरकार और पुलिस-प्रशासन पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि प्रदेश में एक मां-बेटी के साथ दरिंदगी होती है और अभी तक ठोस कार्रवाई नहीं होती. पुलिस अभीतक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर पाई. उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के रुड़की दौरे को लेकर भी सवाल खड़े किए और कहा कि सीएम इस घटना के बाद रुड़की आए थे, लेकिन उन्होंने पीड़िता से मिलना जरूरी नहीं समझा और पुलिस को इस मामले में कोई निर्देश देना जरूरी नहीं समझा. उन्होंने बच्ची और पीड़िता को अच्छे अस्पताल में इलाज कराए जाने की मांग की है.

वहीं, बीजेपी नेता अभिषेक चंद्रा ने भी इस घटना की कड़ी निंदा की है. उन्होंने कहा कि ऐसे आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए. उन्होंने स्थानीय पुलिस पर भी कई तरह के सवाल खड़े किए हैं.

error: Content is protected !!