दिन छिपने से पहले सम्मान पूर्वक उतार ले अपना राष्ट्रीय ध्वज,आपने लगा रखा है ध्वज तो इसकी संहिता का रखें ख्याल,यदि कोई व्यक्ति तिरंगे का अपमान करता है तो यह भारत में दंडनीय अपराध है।

Getting your Trinity Audio player ready...

आपने लगा रखा है ध्वज तो इसकी संहिता का रखें ख्याल,यदि कोई व्यक्ति तिरंगे का अपमान करता है तो यह भारत में दंडनीय अपराध है।आजादी के अमृत महोत्सव के तहत सरकार ने हर घर तिरंगा कार्यक्रम की शुरूआत की थी। इस अभियान में 13 से 15 अगस्त तक घरों, दुकानों, कार्यालयों पर तिरंगा फहराने की अपील…आजादी के अमृत महोत्सव के तहत सरकार ने हर घर तिरंगा कार्यक्रम की शुरूआत की थी। इस अभियान में 13 से 15 अगस्त तक घरों, दुकानों, कार्यालयों पर तिरंगा फहराने की अपील की गई थी। ऐसे में शहर भर में तिरंगे झंडे लगाए गए थे। 15 अगस्त बीतने के बाद भी शहर के प्रतिष्ठानों, घरों, वाहनों पर तिरंगे झंडे लगे हुए देखे जा सकते हैं। हालत यह है कि इन झंडों में से कई तो क्षतिग्रस्त हो गए हैं। कहीं पर झंडे पूरी तरह से खराब हो चुके हैं। ऐसे में अब शहरवासियों को तिरंगे झंडे का सम्मान करते हुए उन्हें सम्मान के साथ उतार लेना चाहिए।सजग प्रकोष्ठ ने निकाली थी ध्वज संकलन रथ यात्रा स्वतंत्रता दिवस के अगले दिन 16 अगस्त को सजग प्रकोष्ठ ने तिरंगा ध्वज संकलन रथ यात्रा निकाली थी, इसमें शहर भर से करीब 3000 तिरंगे झंडे एकत्रित किए गए थे। बाद में इन्हें नगर निगम को सौंप दिया गया था। वहीं नया बाजार क्लॉथ मर्चेंट एसोसिएशन ने भी इसी दिन पूरे बाजार से तिरंगे झंडों को सम्मानपूर्वक उतारा था। राष्ट्रीय ध्वज को उतारते समय भी पालन करें नियमहर घर झंडा-हर घर तिरंगा अभियान में शहरवासियों ने बड़े ही उत्साह से अपने घरों-प्रतिष्ठानों पर तिरंगा लगाया। अब यह जानना जरूरी है कि इन तिरंगों को कैसे रखा जाए। नियमानुसार, तिरंगे को जितना सम्मान फहराते वक्त दिया गया, उतना सम्मान उसे उतारते वक्त भी देना है। यदि कोई व्यक्ति तिरंगे का अपमान करता है तो यह भारत में दंडनीय अपराध है। नियमानुसार तिरंगे को सम्मानपूर्वक उतारना चाहिए और उसके बाद उसे समेटना चाहिए।

error: Content is protected !!